Friday, August 6, 2021
HomeBollywood Newsजब करण जौहर ने IIFA 2017 मंच से कहा, कंगना नहीं बोले...

जब करण जौहर ने IIFA 2017 मंच से कहा, कंगना नहीं बोले तो ही अच्छा!

मुम्‍बई। याद है ना! कॉफी विद करण चैट शो पर कंगना रनौट का करण जौहर के साथ कॉफी पीना और भाई भतीजावाद पर बहस छेड़ना।

उसके बाद करण जौहर और कंगना रनौट के बयानों ने जो रायता फैलाया, वो तो जगजाहिर है। लेकिन, इस तू तू मैं मैं का सफर अभी थमा नहीं है। जी हां, करण जौहर अब भी कंगना रनौट के नाम से खौफ खाते हैं और चुटकी लेने से भी बाज नहीं आते हैं।

दरअसल, न्‍यूयॉर्क में आयोजित हुए आईफा अवार्ड्स 2017 समारोह में वरुण धवन जैसे ही अवार्ड लेने पहुंचा, तो सैफ अली खान ने चुटकी लेते हुए कहा, तुम अपने पिता के कारण यहां पर हो ना, तो तपाक से जवाब देते हुए वरुण धवन ने कहा, तुम भी अपनी मम्‍मी के कारण यहां हो ना। इतने में करण जौहर बोले, मैं भी अपने पिता के कारण यहां पर हूं।

मामला यहां पर ही नहीं थमा, सैफ अली खान और वरुण धवन दोनों करण जौहर की सुपरहिट फिल्‍म कभी खुशी कभी गम का सुपरहिट गाना बोले चूड़ियां बोले कंगना गाने लगे। तभी पास खड़े करण जौहर ने बीच में चुटकी लेते हुए कहा, कंगना नहीं बोले तो ही अच्‍छा है।

बता दें कि कंगना रनौट ने करण जौहर पर भाई भतीजावाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाया था। बाद में करण जौहर ने इस बात को सिरे से खारिज किया था। करण जौहर ने एक प्रोग्राम में दावा किया कि कंगना उसके शो पर बोली थी, यदि वो चाहता तो उसका संपादन कर देता।

इसके जवाब में कंगना रनौट ने कहा, ‘करण जौहर केवल होस्‍ट है, और चैनल को टीआरपी चाहिये, इसमें करण जौहर ने कोई उदारता नहीं दिखाई।’

Image Source : Twitter – Karan Johar, Kapil Sharma

More News

 

 

Kulwant Happyhttps://www.filmikafe.com
कुलवंत हैप्‍पी, संपादक और संस्‍थापक फिल्‍मी कैफे | 14 साल से पत्रकारिता की दुनिया में सक्रिय हैं। साल 2004 में दैनिक जागरण से बतौर पत्रकार कैरियर की शुरूआत करने के बाद याहू के पंजाबी समाचार पोर्टल और कई समाचार पत्रों में बतौर उप संपादक, कॉपी संपादक और कंटेंट राइटर के रूप में कार्य किया। अंत 29.01.2016 को मनोरंजक जगत संबंधित ख़बरों को प्रसारित करने के लिए फिल्‍मी कैफे की स्‍थापना की।
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments