पांच साल पहले किया था एक ट्वीट, अब मुसीबत में घिरे अमिताभ बच्चन!

0
239

मुम्बई। जितना नाम अमिताभ बच्चन ने अभिनय की दुनिया में कदम रखकर कमाया, उतना ही नुकसान अमिताभ बच्चन मौजूदा एनडीए सरकार विशेष कर प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी से मित्रता निभाकर कर रहे हैं।

Twitter Amitabh Bachchan

हालांकि, अमिताभ बच्चन का राजनीति से पुराना संबंध है। अमिताभ बच्चन गांधी परिवार से लेकर राजनेता अमर सिंह तक से दोस्ती रख चुके हैं, और उनकी पत्नि जय बच्चन इस समय राज्य सभा सांसद हैं।

पनामा पेपर में बच्चन परिवार के दो लोगों के नाम हैं, एक तो अमिताभ बच्चन का और दूसरा ऐश्वर्या राय बच्चन का। लेकिन, बच्चन परिवार इस मामले में अपना पक्ष रख चुका है कि उसको किसी गैर आधिकारिक एजेंसी पर विश्वास नहीं है।

अब आते हैं उस बात पर जो इनदिनों बॉलीवुड अभिनेता अमिताभ बच्चन के गले का फांस बनी हुई है।

दरअसल, पांच साल पहले 23 मई 2012 को अमिताभ बच्चन ने अपने ट्वीट संख्या नंबर टी — 753 में लिखा था, ‘पेट्रोल 7.5 रुपये बढ़ा। पम्प परिचर — ‘कितने का डालूं?’! मुम्बईकर — ‘2—4 रुपये का कार के उुपर स्प्रे कर दे भाई, जलाना है!!’

आज जब पेट्रोल की कीमत कुछ स्थानों पर 80 रुपये को टच कर रही है। पेट्रोल डीजल की निरंतर बढ़ रही कीमत को लेकर भारत भर में हाहाकार मचा हुआ है। ऐसे वक्त में पर्दे के महानायक अमिताभ बच्चन चुप हैं।

अमिताभ बच्चन से लोग उनके पुराने ट्वीट को रिट्वीट करने की रिक्वेस्ट कर रहे हैं। इतना ही नहीं, अमिताभ बच्चन के पुराने ट्वीट का स्क्रीन शॉट लेकर वायरल किया जा रहा है।

और दिलचस्प बात तो यह है कि कुछ लोग ट्वीट की समय अवधि को बिना देखे अमिताभ बच्चन की सराहना कर रहे हैं। कुछ लोग ​अमिताभ बच्चन का मजाक उड़ाते हुए लिख रहे हैं, ज्यादा मजाक उड़ाया तो पनामा पेपर का मामला उछाल देंगे।

अमिताभ बच्चन की इस पुरानी पोस्ट का फायदा मोदी विरोधी लोग ले रहे हैं और मोदी पक्ष के लोग अमिताभ बच्चन की टांग खिंचाई कर रहे हैं।