फिल्‍म Airlift की कहानी के असली नायक Mathunny Mathews चल बसे

0
484

मुम्‍बई। फिल्‍म एयरलिफ्ट में अभिनेता अक्षय कुमार की भूमिका जिस शख्‍स से प्रेरित थी, वो भारतीय असली नायक मथुनी मैथ्यूज इस दुनिया से विदा ले चुका है।

जानकारी के मुताबिक 81 वर्षीय बिजनेसमैन मथुनी मैथ्यूज, जो केरल के पथानामथीट्‍टा जिला के अंतर्गत आते कस्‍बे कुम्बानद के रहने वाले थे, का देहांत कुवैत में हुआ।

मथुनी मैथ्यूज के देहांत पर शोक व्‍यक्‍त करते हुए केरल के मुख्‍यमंत्री पिनाराय विजयन ने कहा, ‘1990 के खाड़ी युद्ध के दौरान मथुनी मैथ्यूज ने खाड़ी देश छोड़ने में हजारों भारतीयों की मदद की थी और उनके इस कार्य को हमेशा याद रखा जाएगा।’

उधर, फिल्‍मकार निखिल अडवाणी ने ट्विटर खाते पर लिखा, ‘बीती रात असली रंजीत कटियाल एएलएस (Amyotrophic Lateral Sclerosis) के साथ अपनी लड़ाई हार गया।’ इतना ही नहीं, इस ख़बर पर बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार ने भी शोक व्‍यक्‍त किया है।

बता दें कि मथुनी मैथ्यूज कुवैत के व्‍यवसायी थे, जो नौकरी की तलाश में 1956 में कुवैत गए थे। मैथुनी ने कुवैत स्‍थित टोयोटा में 20 साल की उम्र में टाइपिस्‍ट के तौर पर नौकरी शुरू की और प्रबंधक निर्देशक के पद पर सेवाएं देने के बाद 1989 में मुथैनी रिटायर हुए।

मैथुनी को कुवैत में टोयोटा सनी के नाम से भी जाना जाता था। इसके अलावा मथुनी मैथ्यूज ने सेवामुक्‍त होने के बाद 1990 में एक कार रैंटल कंपनी और जनरल ट्रेडिग कंपनी शुरू की।

मथुनी मैथ्यूज को फिल्‍म एयरलिफ्ट में क्रैडिट नहीं दिया गया था। फिल्‍म में अक्षय कुमार के किरदार का नाम उनके नाम पर रखने की बजाय रंजीत कटियाल रखा गया था। इसके बावजूद भी मथुनी मैथ्यूज ने एयरलिफ्ट को देखकर उसकी प्रशंसा की।

फिल्‍म क्रैडिट न देने के पीछे निजता एक मुख्‍य कारण हो सकता है क्‍योंकि यह मामला पूर्ण रूप से उस समय की सरकार के साथ जुड़ा हुआ था।

Image Source – Mid Day [Mathunny Mathews]