फिल्म पद्मावती का विरोध विदेश पहुंचा, ब्रिटेन में भी रिलीज पर पुनर्विचार शुरू

101

मुम्बई। फिल्म पद्मावती को लेकर चल रहे विरोध की ​तपिश ब्रिटेन तक जा पहुंची है। फिल्म पद्मावती वितरक इसकी रिलीज को लेकर समीक्षा कर रहे हैं। हालांकि, ब्रिटिश ब्रॉडकास्टिंग फिल्म कॉरपोरेशन (बीबीएफसी) से 12 ए प्रमाण पत्र हासिल कर चुकी फिल्म पद्मावती के 1 दिसंबर 2017 को रिलीज होने की संभावना थी।

द गार्डियन वेसबाइट के अनुसार ब्रिटिश वितरक पैरामाउंट पिक्चर्स ने कहा कि यूके में फिल्म की रिलीज डेट की समीक्षा की जा रही है। रिपोर्ट में कहा गया है कि फिल्म निर्माता विदेश में रिलीज करने का निर्णय लेने से पहले भारत की स्थिति को स्पष्ट करना चाहते हैं। इसलिए, फिलहाल, 1 दिसंबर 2017 को फिल्म रिलीज करना संभवत नहीं है।

लंदन आधारित हिंदू चैरिटी, राजपूत समाज यूके ने बीबीएफसी के फैसले का विरोध किया, जिसके तहत फिल्म को रिलीज करने के लिए हरी झंडी दी गई है। समाज की ओर से शांतिमय विरोध प्रदर्शन करने का एलान किया गया है।

चैरिटी ने बीबीएफसी से कहा, ‘हम समझते हैं कि विशेषज्ञ ही फिल्म की भाषा, हिंसा और सीन को जज कर सकते हैं। लेकिन, हमको सही इतिहासकारों को खोजने की जरूरत है, जो इस फिल्म को देख सकें और किसी इतिहासिक पात्र की हत्या होने से रोका जा सके।’

हालांकि, करणी सेना के कुछ नेताओं ने कथित तौर पर ब्रिटिश सिनेमाओं को जलाने की धमकी दी है यदि फिल्म पद्मावती को ब्रिटेन में रिलीज किया जाता है।