Movie Review : रेड – आयकर अधिकारी की ईमानदारी और साहस की दास्तां

0
304

इनदिनों असल जीवन और वास्तविक घटनाओं से प्रेरित फिल्मों का चलन जोरों पर है और फिल्मों को बॉक्स आॅफिस पर अच्छी प्रतिक्रियाएं नसीब भी हो रही हैं। इन्हीं सकारात्मक प्रतिक्रि​याओं से निर्माता निर्देशक देश के कोने कोने में बिखरी पड़ी रोचक और दिलचस्प कहानियों को पर्दे पर लाने के लिए उत्सुक हो रहे हैं।

नो वन किल्ड जैसिका निर्देशक राजकुमार गुप्ता की फिल्म रेड भी इसी सिलसिले को आगे बढ़ाती है, जो 1980 के दशक में पड़े आयकर विभाग के छापों पर आधारित है।

फिल्म रेड की कहानी तो बस इतनी सी है कि एक रसूखदार राजनेता, एक ईमानदार आयकर अधिकारी और छापा। मगर, इस छोटी सी वारदात या किस्से को एक खूबसूरत पटकथा के सांचे में डालने का काम लेखक रितेश शाह की कलम ने बड़ी संजीदगी के साथ किया है।

इसमें कोई दो राय नहीं है कि रितेश शाह का लाजवाब पटकथा लेखन और राजकुमार गुप्ता का संजीदा निर्देशन आयकर विभाग के छापे पर आधारित फिल्म रेड को बेहतरीन फिल्म बनाने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ता है।

राजनेता ताउजी और आयकर अधिकारी अमय पटनायक की आपसी खुन्नस, तनातनी और बातचीत पटकथा में जान डालती है।

सिने दर्शक केवल ज्ञान भरी बातें नहीं चाहते, बल्कि उनको साथ साथ में मनोरंजन भी चाहिए, इस बात को रितेश शाह भलीभांति जानते हैं, जो उनकी लिखी पटकथा से साफ साफ दिखाई पड़ता है।

इसके अलावा लल्लन और ताउजी की अम्मा का किरदार गढ़ना भी फिल्म के लिए जरूरी था, अन्यथा दर्शकों को बांधने रखना मुश्किल था।

अम्मा के किरदार में पुष्पा जोशी, जिन्होंने 81 वर्ष की उम्र में सिने जगत में कदम रखा है, का अभिनय वास्तविक लगता है। उनकी बातों में अपनापन छलकता है और उनके संवाद ठहाके लगाने पर मजबूर करते हैं।

लल्लन के किरदार में अभिनेता अमित सियाल का अभिनय जबरदस्त है। यह किरदार भी फिल्म रेड के यादगार किरदारों में शुमार रहने वाला है।

अजय देवगन ने अमय पटनायक, जो ईमानदार अधिकारी है, के किरदार को पर्दे पर जीवंत कर दिया है। अमय पटनायक का किरदार इतना जमीनी है कि फिल्म देखते देखते उसके साथ असल वाली हमदर्दी होने लगती है, विशेषकर उस समय जब नेता के इशारे पर आम लोगों की भीड़ अमय पटनायक समेत आयकर विभाग अधिकारियों को मारने के लिए टूट पड़ती है। और जब कार में सवार अमय पटनायक की बीवी पर अचानक जानलेवा हमला होता है।

ताउजी का किरदार निभा रहे सौरभ शुक्ला ने भी अपने शानदार अभिनय से दिल जीत लिया। अमय पटनायक की बीवी के किरदार में इलियाना डिक्रूज की प्रशंसा करनी होगी। अपनी खूबसूरत मुस्कान, अपनी दिलकश अदाओं और अपने शरारती संवादों से दिल चुराने में कामयाब रहीं हैं।

साथ ही, अन्य सहयोगी कलाकारों का अभिनय भी काबिल ए तारीफ है। इसके अलावा फिल्म का संपादन, फिल्मांकन और संगीतक पक्ष भी बेहतरीन है। कुल मिलाकर कहें तो रेड एक पैसा वसूल मनोरंजन भरपूर फिल्म है।

— कुलवंत हैप्पी