Movie Review – तुतक तुतक तूतियां दिलचस्‍प कहानी और मस्‍त हॉरर कॉमेडी

0
340

फिल्‍मकार एएल विजय निर्देशित तुतक तुतक तूतियां रिलीज हो चुकी है। एक साथ तीन भाषाओं में अलग अलग नामों से रिलीज हुई प्रभुदेवा, सोनू सूद और तमन्‍ना भाटिया अभिनीत फिल्‍म तुतक तुतक तूतियां मस्‍त हॉरर कॉमेडी और दिलचस्‍प कहानी का शानदार कॉकटेल है।

tutak-tutak-tutiya

फिल्‍म की कहानी काफी सरल और दिलचस्‍प है। फिल्‍म की कहानी मुम्बई में रहने वाले कृष्ण कुमार (प्रभु देवा ) की है, जो एक मॉर्डन लड़की से विवाह करना चाहता है। लेकिन, परिस्‍थितियों के हेरफेर में उसकी शादी एक ग्रामीण कन्‍या देवी (तमन्ना भाटिया) से हो जाती है। कृष्‍णा और देवी दोनों मुम्‍बई आते हैं। कृष्‍णा अपनी ग्रामीण पत्‍नी को सबसे छुपाकर एक अपार्टमेंट में रखता है। जहां देवी के शरीर में रूबी नामक लड़की की आत्‍मा प्रवेश करती है, जो अभिनेत्री बनना चाहती है। इसके बाद कहानी में सुपर स्टार राज खन्ना (सोनू सूद) एंट्री मारते हैं। इसके बाद जो घटित होता है, उसको देखने के लिए फिल्‍म देखनी होगी।

अभिनय की बात करें तो तीन कलाकारों ने जबरदस्‍त अभिनय किया है। प्रभुदेवा अपने किरदार में एक दम फिट बैठते हैं। तमन्‍ना भाटिया का किरदार महत्‍वपूर्ण है क्‍योंकि सारा खेल उसके आस पास रचा गया है। तमन्‍ना भाटिया अपने हाव भाव बदलने में सफल हुईं हैं। सोनू सूद बतौर सुपर स्‍टार काफी बेहतरीन लगे। उम्‍मीद है कि सोनू सूद को इसके बाद लीड भूमिकाएं ऑफर हों। फिल्‍म के अन्‍य कलाकार भी काफी बेहतरीन अभिनय करते हुए नजर आए।

एएल विजय के निर्देशन की तारीफ करनी होगी क्‍योंकि उन्‍होंने इस फिल्‍म को तीन अलग अलग भाषाओं में अलग अलग तरीके से शूट किया है। एक कलाकार को एक ही सीन तीन तीन बार करना पड़ा है। इसलिए फिल्‍म को डब फिल्‍म नहीं कहा जा सकता। इसके बावजूद भी एएल विजय के निर्देशन में खामी निकालना मुश्‍किकल है। हालांकि, फिल्‍म के दूसरे हिस्‍से को थोड़ा सा और मजेदार बनाया जा सकता था। फिल्‍म का संगीत काफी शानदार है, यह कहने की जरूरत नहीं क्‍योंकि फिल्‍म का संगीत तो पहले से ही हिट हो चुका है।

Sonu Sood Prabhu Deva 001

यदि आप तनावग्रस्‍त चल रहे हैं। थोड़ा सा गुदगुदाना चाहते हैं तो आपके लिए तुतक तुतक तूतियां एक शानदार फिल्‍म साबित होगी। फिल्‍म में काफी बेहतरीन तरीके से हास्‍य सीनों को फिल्‍माया गया है। फिल्‍म को शुरूआती ओपनिंग कम मिल सकती है क्‍योंकि बड़े नामी ग्रामी सितारे नहीं हैं। लेकिन, इसमें कोई दो राय नहीं कि फिल्‍म धीरे धीरे बॉक्‍स ऑफिस पर गति पकड़ सकती है।

हमारी तरफ से फिल्‍म तुतक तुतक तूतियां को पांच में से तीन सितारे दिए जाते हैं। हालांकि, यह हमारी निजी राय है, जो सब पर लागू नहीं होती क्‍योंकि हर किसी का अपना अपना नजरिया होता है।

-युवतेज