Tuesday, March 5, 2024
HomeMovie ReviewMovie Review! कुंग फू योगा - योगा करने की पूरी व्‍यवस्‍था

Movie Review! कुंग फू योगा – योगा करने की पूरी व्‍यवस्‍था

आखिरकार! विश्‍व प्रख्‍यात अभिनेता जैकी चेन की इंडो-चाइनीज फिल्‍म कुंग फू योगा रिलीज हो गई है। इस फिल्‍म को लेकर सिने दर्शकों को काफी उम्‍मीदें हैं। लेकिन, जैकी चेन और सोनू सूद की जोड़ी सिने प्रेमियों की उम्‍मीदों पर कितनी खरी उतरती है, जानने के लिए फिल्‍म कुंग फू योगा के कुछ पक्षों पर नजर डालते हैं।

फिल्‍म कुंग फू योगा की कहानी प्राचीन मगध साम्राज्‍य और उसके लापता खजाने की है। इसी खजाने की खोज में कुंग फू एक्सपर्ट जैकी चेन चीन से भारत आता है, जिसको प्राचीन चीजों में काफी दिलचस्‍पी है। जैकी चेन के इस मिशन में युवा प्रोफेसर दिशा पटानी और उनकी सहायक अमायरा दस्तूर शामिल होती हैं। इस खजाने को पाने के लिए सोनू सूद भी काफी उतावला है, जो फिल्‍म में विलेन की भूमिका में है। अब यह खजाना मिलता है या नहीं? यदि मिलता है तो सोनू सूद से बचाने में जैकी चेन की टीम किस तरह सफल होती है? जानने के लिए कुंग फू योगा देखिये।

फिल्‍म कुंग फू योगा को और बेहतरीन बनाया जा सकता था। जैकी चेन की फिल्‍म को बॉलीवुड मसाला बनाने के चक्‍कर में बेचारा निर्देशक स्‍टेनली टोंग खुद उलझा हुआ नजर आया। हालांकि, जैकी चेन को सिनेमा प्रेमी इस बार कराटे छराटे, एक्‍शन के अलावा डांस करते हुए देखेंगे।

दबंग विलेन सोनू सूद ने अपनी बॉडी पर काफी अच्‍छा वर्कआउट कर लिया है। अब उनको अपने अभिनय पर काम करने की जरूरत है क्‍योंकि अच्‍छी किस्‍मत कब पलट जाए, पता नहीं चलता। अन्‍य कलाकारों ने अपनी उपस्‍थिति दर्ज करवाने की कोशिश की है।

जैसे कश्‍मीर पुलाव कश्‍मीर नहीं होता और गुलाब जामुन में गुलाब नहीं होता। वैसे ही कुंग फू योगा में योगा नहीं है। यदि आप चाहें तो फिल्‍म के दौरान कर सकते हैं, क्‍योंकि फिल्‍म निर्देशक ने कुछ बोरियत भरे सीन डालकर इसकी व्‍यवस्‍था की है।

यदि आपको जैकी चेन बेहद पसंद है। उनकी शैली का एक्‍शन पसंद है। कार की रेस पसंद है। बेहतरीन स्‍थलों को बड़े पर्दे पर देखना आपकी आंखों को सुकून देता है तो आपके लिए कुंग फू योगा एक अच्‍छा पैकेज साबित हो सकती है अन्‍यथा आप कुंग फू योगा देखने से अच्‍छा है कि घर पर कुछ देर योगा कर लें।

हमारी कसौटी पर फिल्‍म कुंग फू योगा एक मनोरंजक फिल्‍म के रूप में पूरी तरह खरी नहीं उतरती। इसलिए इस फिल्‍म को पांच में से 2 स्‍टार रेटिंग देते हैं।

Kulwant Happy
Kulwant Happyhttps://www.filmikafe.com
कुलवंत हैप्‍पी, संपादक और संस्‍थापक फिल्‍मी कैफे | 14 साल से पत्रकारिता की दुनिया में सक्रिय हैं। साल 2004 में दैनिक जागरण से बतौर पत्रकार कैरियर की शुरूआत करने के बाद याहू के पंजाबी समाचार पोर्टल और कई समाचार पत्रों में बतौर उप संपादक, कॉपी संपादक और कंटेंट राइटर के रूप में कार्य किया। अंत 29.01.2016 को मनोरंजक जगत संबंधित ख़बरों को प्रसारित करने के लिए फिल्‍मी कैफे की स्‍थापना की।
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments