गुजराती फिल्‍म फ्रेटर्निटी बैनर तले एकजुट हुआ गुजराती फिल्‍म जगत

0
211

अहमदाबाद। तेजी के साथ उभर रहे गुजराती फिल्‍म जगत के हितों की रक्षा और फिल्‍म जगत से जुड़े लोगों की समस्‍याओं को हल करने के लिए सामने आए पहले गुजराती फिल्‍म संगठन गुजराती फिल्‍म फ्रेटर्निटी को स्‍थानीय ठाकोरभाई देसाई हॉल में रविवार के दिन औपचारिक रूप से लॉन्‍च किया गया है।

 

जानकारी मुताबिक इस समारोह में 500 से अधिक गुजराती फिल्‍म जगत से जुड़े लोग शामिल हुए। गुजराती फिल्‍म फ्रेटर्निटी की सदस्‍यता हासिल करने के लिए 1010 से अधिक लोगों ने ऑनलाइन निवेदन किया। फ्रेटर्निटी पदाधिकारियों को उम्‍मीद है कि जल्‍द ही फ्रेटर्निटी सदस्‍यों का आंकड़ा 5000 की संख्‍या को पार कर जाएगा।

इस मौके पर हेतल ठक्‍कर को अध्‍यक्ष, अरविंद वेगड़ा को कार्यकारी अध्‍यक्ष और अभिलाश घोड़ा को महासचिव के रूप चुना गया। इसके अलावा कोर कमेटी, सलाहकार बोर्ड और विंग्‍स कमेटी पद अधिकारियों की घोषणा भी की गई।

जानकारी के अनुसार गुजराती फिल्‍म फ्रेटर्निटी की नयी कार्यकारिणी का चुनाव अगले साल 18 जून को किया जाएगा। गुजरात फिल्‍म फ्रेटर्निटी का सदस्‍य बनने के लिए 100 रुपये मेंबरशिप फीस रखी गई है और प्रत्‍येक सदस्‍य को एक स्‍मार्ट डिजीटल कार्ड दिया जाएगा। दिलचस्‍प बात तो यह है कि इस एसोसिएशन में कैशियर का पद नहीं रखा गया।

समारोह के इत्र मीडिया से बात करते हुए संगठन पदाधिकारियों ने कहा, ‘गुजराती सिने जगत को प्रगति के पथ पर आगे लेकर जाने के लिए संगठन सदस्‍य हर समय तैयार रहेंगे। क्षेत्रीय सिने जगत से जुड़े लोगों को पेश आने वाली दिक्‍कतों को भी पहल के आधार पर खत्‍म किया जाएगा। सिने जगत के लोगों से मिल रहे सहयोग और स्‍नेह को देखते हुए लगता है कि जीएफएफ अपने लक्ष्‍य को बहुत कम समय में हासिल कर लेगी।’

इस मौके पर बॉलीवुड के जाने माने फिल्‍म अभिनेता दर्शन जरीवाला विशेष रूप से उपस्‍थित हुए, जो गुरजाती फिल्‍म बे यार और कैरी ऑन केसर में नजर आए थे।

दर्शन जरीवाला ने संबोधित करते हुए कहा, ‘अच्‍छी बात है कि गुजराती सिनेमा भी अन्‍य क्षेत्रीय सिनेमाओं की तरह आगे बढ़ रहा है। मैंने बेयार से पहले कोई गुजराती फिल्‍म नहीं की क्‍योंकि उससे पहले बातौर अभिनेता मुझे संतुष्‍ट करने वाला कोई किरदार ऑफर नहीं हुआ था। मैं गुजराती फिल्‍म जगत को अपनी तरफ से हरसंभव सहयोग देने के लिए तैयार हूं। हमको अच्‍छे कंटेंट पर ध्‍यान देने की जरूरत है।’