जानिए! क्यों रखा फ़िल्म का नाम जय गंगाजल ?

0
231

09-57-59-400x400_IMAGE44878001

4 मार्च 2016 को रिलीज होने वाली एक्शन-ड्रामा फिल्म जय गंगाजल का प्रोमोशन करने दिल्ली पहुंचे फ़िल्म निर्माता निर्देशक और अभिनेता प्रकाश झा से फ़िल्मी कैफे के प्रतिनिधि की विशेष बातचीत के कुछ अंश :

प्र. क्या जय गंगाजल पिछली अजय अभिनीत फ़िल्म गंगाजल का सीक्वल है ?

उ. बिलकुल नहीं, यह गंगाजल से अलग फ़िल्म है। जय गंगाजल को पुरानी का सीक्वल कहना गलत होगा।भले ही जय गंगाजल फिल्म समाज के इर्द-गिर्द घूमने वाले मुद्दों पर बनी फिल्म ‘गंगाजल’ की समान पृष्ठभूमि पर बनी है। लेकिन, इसे सीक्वल नहीं कह सकते।

प्र. सुना है कि आप ने भी फ़िल्म में अभिनय किया है, तो कुछ बताइये।

उ. बिलकुल। “मैंने फिल्म में एक किरदार निभाया है। यह एक पुलिसकर्मी की भूमिका है। मैं फिल्म में प्रियंका चोपड़ा का एक सहयोगी हूं।

प्र. प्रियंका चोपड़ा का चयन ही क्यों ?

उ. `जय गंगाजल` को एक शक्तिशाली महिला किरदार की जरूरत थी। फिल्म में प्रियंका चोपड़ा एक पुलिस अधिकारी आभा माथुर की भूमिका निभा रही है। वह हमेशा से इस फिल्म की पसंद रही हैं। और प्रियंका भी इस फिल्म को लेकर अधिक उत्साहित थी।

प्र. यदि ये गंगाजल का सीक्वल नहीं तो ये शीर्षक क्यों ?

उ. दरअसल,  गंगाजल शब्द से ही पवित्रता का एहसास होता है जो बेहतर आचरण को दिखाने का प्रयास करता है। इसलिए इसका नाम ‘जय गंगाजल’ रखा गया है।

प्र. सुना है कि फ़िल्म में गीत बहुत हैं, इस बारे में आपका का क्या कहना है ?

उ. आप ने सही सुना है। बिलकुल इस फिल्म में 12 गानें हैं जो फिल्म की जरूरत को समझते हुए डाले गए हैं। और उम्मीद करता हूँ कि दर्शकों को मेरा यह नया प्रयोग पसन्द आएगा।