गानों का रीक्रिएशन पेंचीदा हो सकता है : अरमान

0
177

नई दिल्ली। ‘वजह तुम हो’, ‘नैना’, ‘चार शनिवार’ जैसे गीतों के लिए पहचाने जाने वाले गायक अरमान मलिक ने कहा है कि गानों का रीक्रिएशन पेंचीदा हो सकता है।

वर्ष 1991 के गीत ‘तुम्हें अपना बनाने की’ को दोबारा बना चुके अरमान मलिक ने आईएएनएस से कहा, “मुझे लगता है कि रीक्रिएशन अच्छा है, बशर्ते उसे सही ढंग से किया जाए। क्योंकि यह बहुत खतरनाक भी हो सकता है। यदि कोई भी गड़बड़ी हो गई तो लोग संभवत: इसे पसंद न करें, क्योंकि उनकी जेहन में पुराने गीत रहते हैं। इसलिए रीक्रिएशन थोड़ा कठिन हो सकता है।”

armaan malik music studio

उन्होंने कहा कि संगीतकारों के लिए रीक्रिएशन कठिन होता है, क्योंकि उम्मीदों पर खरा उतरना कठिन होता है। हालांकि वह महसूस करते हैं कि पुराने गीतों के नए संस्करण नई पीढ़ी को उनके अस्तित्व के बारे में जानने में मदद करते हैं।

उन्होंने कहा, “अगर आप ने सही तरीके से किया तो मुझे लगता है कि यह सचमुच बहुत अच्छा काम है, क्योंकिइससे युवा पीढ़ी को इन (पुराने) गीतों के अस्तित्व का पता चलता है।”

-आईएएनएस